डेंगू बुखार क्या है – जानिए डेंगू बुखार के लक्षण, कारण और 7 कारगर घरेलू उपचार |What is Dengue Fever , Its Causes, Symptoms , and 7 Best Home Remedies in Hindi

Must Read

Dr. Pranav Bhardwaj
Dr. Pranav Bhardwajhttp://goodswasthya.com
Pranav Bhardwaj has been in health blogging for the last couple of years with writeups for different magazines and articles. He holds a Doctor of Pharmacy ( PharmD ) degree and having experience in drug administration and control drug delivery system. His hobbies include Reading magazines, Netflixing. Pranav is a very calming person and you will always enjoy his company and is a charm to talk to.
What is Dengue Fever in Hindi Table of Contents:-

डेंगू बुखार क्या है – जानिए डेंगू बुखार के लक्षण, कारण और घरेलू उपचार ( Home Remedies For Dengue Fever ) ?

डेंगू एक बहुत ही गंभीर बीमारी है जो Aedes Egypti नाम की मच्छरों की प्रजाति से फैलता है, इस बीमारी के कारण पूरी दुनिया में हर साल हजारों की तादाद में लोग मर जाते हैं, जब कोई भी मच्छर डेंगू से ग्रस्त किसी भी रॉकी को काट लेता है और फिर वही मच्छर किसी दूसरे स्वस्थ में व्यक्ति को भी काट लेता है, तो यह वायरस व्यक्ति के खून में पहुंच जाता है इससे स्वस्थ व्यक्ति को भी आसानी से डेंगू बुखार हो जाता है, यदि मच्छर एक बार भी काट जाए तो भी डेंगू बुखार Dengue Fever होने की संभावना बढ़ जाती है।

आज हम आपको इस आर्टिकल में डेंगू बुखार से ही संबंधित बातें बताएंगे कि Dengue Bukhar Kya Hai तथा Dengue Fever Ke Lakshan और Dengue Bukhar Kaise Hota Hai? Dengue Bukhar Ke Karan? Dengu Bukhar Ka ilaj?  Dengue Bukhar Kiske Karan Hota Hai? Dengue Bukhar Se Bachne Ke Upay? यदि आप इन सभी सवालों के जवाब जानना चाहते हैं, तो हमारी पोस्ट को आखिरी तक पढ़ते रहिएगा।

symptoms of dengue hindi

Dengue Bukhar Kya Hai – What Is Dengue Fever In Hindi?

डेंगू बुखार एक वायरस के कारण होता है जो कि मच्छरों के द्वारा फैलता है, डेंगू वायरस से ऐसा वायरस होती है जिसको फैलने के लिए किसी माध्यम की आवश्यकता होती है, और यह माध्यम होते हैं मच्छर, क्योंकि मच्छर एक इंसान से दूसरे इंसान को काटते हैं और यह इसी प्रकार इस संक्रमण को फैलाते रहते हैं, डेंगू बुखार Dengue Fever को हड्डी तोड़ बुखार भी कहा जाता है, क्योंकि इस बुखार में रोगी को हड्डियों के टूटने जैसा दर्द होता है परंतु इस बात का ध्यान रखें, कि यदि आपके शरीर में डेंगू बुखार के थोड़े से भी लक्षण दिखें, तो आपको तुरंत ही जांच करवा लेनी चाहिए। अब हम आपको आगे Dengue Bukhar Ke Lakshan बताएंगे।

Dengue Bukhar Ke Prakar – Types Of Dengue Fever In Hindi?

मुख्य रूप से डेंगू के तीन प्रकार होते हैं जैसे कि :-

हल्का डेंगू बुखार –

बुखार के लक्षण मच्छर के काटने के एक हफ्ते बाद देखने को मिलते हैं, इस बुखार में गंभीर तथा घातक लक्षण शामिल हो सकते हैं, जैसे कि बहुत तेज बुखार होना या फिर मांसपेशियों में दर्द होना।

डेंगू रक्त स्त्रावी बुखार-

इस Dengue Fever में आप को बहुत हल्के लक्षण दिखाई देते हैं, परंतु धीरे-धीरे कुछ ही दिनों के भीतर यह लक्षण बहुत ज्यादा गंभीर होने लगते हैं।

डेंगू शॉक सिंड्रोम –

यह Dengue Fever का सबसे गंभीर रूप होता है और यहां तक की डेंगू बुखार आप की मौत का कारण भी बन सकता है।

Dengue Bukhar Ke Lakshan – Symptoms Of Dengue Fever In Hindi?

अब हम आपको डेंगू बुखार के कुछ लक्षण बताएंगे। यदि आपको अपने शरीर में कुछ ऐसे ही लक्षण महसूस हो, तो आपको तुरंत ही किसी अच्छे डॉक्टर की सलाह ले लेनी चाहिए और डेंगू का चेकअप करा लेना चाहिए। क्योंकि डेंगू एक ऐसी खतरनाक बीमारी है, जिसके कारण आपकी जान भी जा सकती है। इसीलिए इस बीमारी को समय पर ही नियंत्रण करना होता है, तो चलिए जानते हैं Dengue Fever Symptoms In Hindi

जब आप डेंगू वायरस से संक्रमित हो जाते हैं, तो इसके 3 से 14 दिनों के पश्चात ही किसी स्वस्थ व्यक्ति में लक्षण दिखाई देते हैं ज्यादातर 4 से 7 दिनों में भी इसके कुछ लक्षण दिखाई दे सकते हैं, जैसे कि जब डेंगू वायरस आपके खून में फैले लगता है, तो इसके कुछ भी घंटों के पश्चात आपके शरीर के जोड़ों में थोड़ा बहुत दर्द होने लगता है।

आपको यदि बहुत ही ज्यादा तेज बुखार है और आप इस बुखार की किसी डॉक्टर से दवाई लेते हैं और उसके पश्चात यदि इस बुखार में थोड़ा सा आराम आता है, और यह फिर से हो जाता है तो यह भी डेंगू बुखार का ही लक्षण है, ऐसी परिस्थिति में बिल्कुल भी देर ना करें और अपने शरीर में डेंगू का टेस्ट कराएं।

  • यदि आपका ब्लड प्रेशर तेजी से कम हो रहा है, और आपके हृदय की गति भी काफी कम हो रही है, तो यह भी इसी बुखार का ही लक्षण है।
  • यदि आपकी आंखें लाल हो रही हैं, और इसके साथ-साथ आपकी आंखों में भी बहुत ज्यादा दर्द हो रहा है तथा पानी भी निकल रहा है, तो यह भी डेंगू बुखार का इलेक्शन हो सकता हैं।
  • यदि बुखार के साथ-साथ आपके चेहरे पर गुलाबी रंग के दाने भी निकल रहे हैं, तो यह भी डेंगू के लक्षण है।
  • भूख ना लगना, सिर दर्द, ठंड लगना तथा बुखार इन सब लक्षणों के साथ Dengue Fever की शुरुआत होती है, यदि किसी भी व्यक्ति को अपने शरीर में इस प्रकार के लक्षण दिखाई देते हैं, तो वह व्यक्ति बिल्कुल भी देर ना करें और तुरंत ही किसी अच्छे हॉस्पिटल में जाकर अपने डेंगू बुखार का चेकअप करा ले।
  • यदि बुखार के साथ-साथ किसी भी व्यक्ति का जी मचल रहा है, और उल्टी आ रही है तो यह भी इसी बीमारी का लक्षण हो सकता है।

यह भी पढ़े चेचक या Chickenpox क्या है इसके के लक्षण, कारण और कारगर घरेलू इलाज 

Dengue Bukhar Kiske Karan Hota Hai – What causes dengue fever In Hindi?

डेंगू बुखार Dengue Fever चार तरह के वायरस के कारण होता है जैसे कि डीएनवी 1, डीएनवी 2, डीएनवी 3, डीएनवी 4. जब कोई भी मच्छर पहले से इस वायरस से संक्रमित व्यक्ति को काटता है तो उसके पश्चात यह वायरस मच्छर के शरीर में प्रवेश कर जाता है और उसके पश्चात जब मच्छर किसी भी स्वस्थ व्यक्ति को काटता है, तो यह वायरस उचित स्वस्थ व्यक्ति के रक्त में भूल जाता है जिसके कारण वह व्यक्ति डेंगू का शिकार हो जाता है। अब आपको पता चल चुका होगा कि Dengue Bukhar Kiske Karan Hota Hai

Dengue Bukhar Se Bachne Ke Tarike – Ways To Avoid Dengue Fever In Hindi?

अब हम आपको Dengue Fever से बचने के कुछ तरीके बताएंगे। जिन तरीकों से आप डेंगू बुखार से आसानी से बच सकते हैं, ज्यादातर डेंगू बुखार गर्मियों के मौसम में ही फैलता है तो चलिए जानते हैं, की Dengue Se Kaise Bache

त्वचा को बिल्कुल भी खुला ना छोड़े –

आपको कभी भी अपनी बाजू हो तथा टांगों को आधा खाली नहीं छोड़ना चाहिए। आपको हमेशा पूरे कपड़े पहन कर रखना चाहिए मतलब की पूरी बाजू की शर्ट और पैंट पहन कर रखनी चाहिए। जिसकी वजह से आपको डेंगू के मच्छर नहीं काट पाएंगे ज्यादातर डेंगू के मच्छर सुबह के वक्त या फिर शाम के वक्त ही काटते हैं, इसलिए यदि आप जब भी घर से बाहर जाते हैं, तो पूरे कपड़े पहन कर ही निकले खास तौर पर जो लोग शाम के वक्त पार्क में घूमने के लिए जाते हैं, वह लोग पूरे कपड़े पहन कर जाएं।

मच्छरों रोधी क्रीम –

ज्यादातर जो भी कहीं बाहर जाते हैं या फिर खुले में रात के वक्त सोते हैं तो उन व्यक्तियों को मच्छर रोधी क्रीम का इस्तेमाल करना चाहिए, क्योंकि इस प्रकार की क्रीम लगाने से मच्छर आपकी त्वचा पर नहीं काट पाएंगे। जिसके कारण आप डेंगू जैसी बीमारियों के खतरों से बचे रहेंगे, और इस प्रकार की क्रीम आपको किसी भी मेडिकल स्टोर से आसानी से मिल जाएगी। जैसे कि Odomass Creame यह क्रीम आप किसी भी डॉक्टर की दुकान से खरीद सकते हैं।

ठहरे हुए पानी में कीटनाशक दवाई डालें –

यदि आपके घरों के आसपास नालिया है, या फिर आपके घरों के आसपास गड्ढे हैं जिनमें बहुत सारा पानी जमा हो जाता है, तो आपको इस प्रकार के गड्ढों में कीटनाशक दवाइयां अच्छी रखनी चाहिए तथा नालियों में भी कीटनाशक दवाइयां रखनी चाहिए। जिसके कारण इस प्रकार के ठहरे हुए पानी में मच्छर नहीं जन्म ले पाएंगे और आप डेंगू जैसी बीमारियों से बचे रहेंगे। इसके अतिरिक्त आपको अपने घर में भी स्नानघर में कीटनाशक दवाइयों का छिड़काव करते रहना चाहिए जिसके कारण आपके घर में मच्छर पैदा नहीं हो पाएंगे, खासतौर पर आपको अपने घर की रसोई में भी कीटनाशक दवाइयों को छिड़कना चाहिए।

व्यक्तिगत स्वच्छता –

जब आप किसी भी वायरस से संक्रमित होते हैं, या फिर अगर आप वायरस से संक्रमित नहीं भी हैं, तो भी आपको अपने घर में डिटॉल लिक्विड हैंड वॉश का इस्तेमाल हमेशा करना चाहिए क्योंकि डेटोल हैंड वाश आपके हाथों में से सभी कीटाणुओं को नष्ट कर देता है, और आपको कई तरह की बीमारियों से बचाता है।

dengue treatment in hindi

Dengue Fever Ke Liye Gharelu Upchar – Home Remedies For Dengue Fever Treatment In Hindi?

अब हम आपको Dengue Fever Ka ilaj बताएंगे जिससे आप डेंगू बुखार में काफी आराम पा सकते हैं:-

डेंगू बुखार में फायदेमंद है नीम(Neem for Dengue Fever)

जब आपको डेंगू बुखार हो जाता है, तो डेंगू बुखार के होने पर आपको घरेलू नुस्खे के रूप में नीम के पत्तों का रस बनाकर पीना चाहिए। क्योंकि नीम के पत्तों का रस पीने से आपको डेंगू बुखार में बहुत ज्यादा आराम मिलता है, और इसके साथ साथ आपकी प्लेटलेट और सफेद रक्त कोशिकाओं में भी वृद्धि होती है।

गिलोय का काढ़ा है डेंगू में असरदार(Giloy Kadha for Dengue Fever)

जब किसी भी व्यक्ति को Dengue Fever हो जाता है, तो डॉक्टर भी उसको दवाई के साथ साथ गिलोय का काढ़ा पीने के लिए कहते हैं, क्योंकि गिलोय एक प्राचीन औषधि है जो कि आयुर्वेद के द्वारा भी कई बीमारियों में इस्तेमाल की जाती है, इसलिए डेंगू बुखार होने पर गिलोय के तने को उबालकर इसका काढ़ा बनाकर पीना चाहिए यदि आप गिलोय का काढ़ा पीते हैं तो आपको डेंगू बुखार में बहुत ज्यादा आराम मिलता है।

 तुलसी की पत्तियां है डेंगू में फायदेमंद(Tulsi Leaves for Dengue)

यदि आपको Dengue Fever हो गया है तो आप घरेलू नुस्खे के रूप में तुलसी की पत्तियों का सेवन भी कर सकते हैं, तुलसी की पत्तियों में बहुत से ऐसे गुण पाए जाते हैं जो कि डेंगू बुखार में आपके लिए काफी ज्यादा असरदार होते हैं, इसके लिए आपको तुलसी की आठ से 10 पतियों को पानी में अच्छे से उबालकर इसका काढ़ा बना लेना है, और आपको इसमें एक चुटकी काली मिर्च भी मिला नहीं है और फिर उसके पश्चात इसको धीरे-धीरे से पी लेना है, इस प्रकार यदि आप दिन में दो से तीन बार पिए तो आपको डेंगू बुखार में बहुत ज्यादा फायदा मिलेगा।

किवी(Kiwi Fruit is a miracle for Dengue)

यदि किसी भी व्यक्ति को डेंगू हो जाता है तो ज्यादातर डॉक्टर भी उस व्यक्ति को कीवी फल खाने के लिए कहता है। क्योंकि कीवी फल में ज्यादातर सभी प्रकार के पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो कि डेंगू के मरीज के लिए काफी ज्यादा फायदेमंद होते हैंस और इसके साथ-साथ डेंगू मरीज के शरीर में प्लेटलेट तथा सफेद कोशिकाओं के निर्माण में भी सहायक होते हैं, इसीलिए डेंगू बुखार के समय पर कीवी फल का सेवन जरूर करना चाहिए।

बकरी का दूध(Goat Milk is highly beneficial for Dengue Fever)

बकरी का दूध डेंगू के मरीजों के लिए बहुत ही ज्यादा फायदेमंद साबित होता है, यदि किसी भी व्यक्ति को डेंगू हो जाता है तो वह घरेलू उपचार के रूप में बकरी का दूध पी सकता है, क्योंकि बकरी के दूध में कुछ ऐसे गुण पाए जाते हैं जो कि मानव शरीर में प्लेटलेट तथा सफेद रक्त कोशिकाओं की मात्रा को बढ़ाते हैं, इसीलिए Dengue Fever के मरीजों को बकरी के दूध का सेवन जरूर करना चाहिए।

नारियल पानी(Coconut Water for Dengue Fever)

डेंगू के मरीज को प्रतिदिन दो से तीन बार नारियल पानी का सेवन जरूर करना चाहिए। क्योंकि नारियल के पानी में सभी जरूरी पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो कि डेंगू बुखार के दौरान डेंगू के मरीज के शरीर को सभी पोषक तत्व पहुंचाते हैं और शरीर को मजबूत भी बनाए रखते हैं।

dengue causes in hindi
image source – https://www.canva.com/

चुकंदर का सेवन(Beet Root For Dengue)

चुकंदर हमारे शरीर के लिए बहुत ही ज्यादा फायदेमंद होती है, क्योंकि चुकंदर में बहुत ही अधिक मात्रा में एंटी ऑक्सीडेंट पाए जाते हैं जो कि हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाते हैं, इसीलिए आपको डेंगू बुखार होने पर चुकंदर का रस पीना चाहिए। इसके साथ-साथ आप चुकंदर तथा गाजर इन दोनों को मिक्स करवाकर इनका जूस बनाकर भी पी सकते हैं, यदि आप दिन में दो बार भी चुकंदर के जूस का सेवन करते हैं तो आपको Dengue Fever में बहुत ज्यादा फायदेमंद मिलेगा, यहां पर की अपने शरीर में दवाइयों से ज्यादा असर आपको चुकंदर के कारण देखने को मिलेगा।

Dengue Conclusion –

उम्मीद करते हैं, कि आपको डेंगू बुखार से संबंधित हमारी यह पोस्ट बहुत ही पसंद आई होगी। इस पोस्ट के माध्यम से हमने आपको Dengue Bukhar Ke Lakshan तथा Dengue Bukhar Kaise Hota Hai और Dengue Bukhar Ke Gharelu Upchar बताए हैं, जो कि आपके लिए बहुत ही ज्यादा फायदेमंद साबित होंगे और इसके साथ साथ हमने आपको Dengue Fever Se Bachne Ke Upay भी बता दिए हैं, ताकि आप डेंगू बुखार से अपने आप को बचा सके। यदि अब भी आपको डेंगू बुखार से संबंधित कोई भी परेशान से पूछना हो तो आप कमेंट सेक्शन के माध्यम से पूछ सकते हैं, हम आपको कुछ ही पलों में उसका जवाब जरूर देखें। धन्यवादौ0न

लेटेस्ट लेख

Low Ejection Fraction: लो इजेक्शन फ्रैक्शन क्या है? जानिए लो इजेक्शन फ्रैक्शन के लक्षण एवं बचाव

Low Ejection Fraction: लो इजेक्शन फ्रैक्शन क्या है? जानिए लो इजेक्शन फ्रैक्शन के लक्षण एवं बचाव

More Articles Like This